Offers

Tuesday, July 5, 2016

What is hindi meaning of Marine Engineering मरीन इंजीनियरिंग or समुद्रीय अभियांत्रिकी or सामुद्रिक अभिय‌ंत्रण

Is Marine Engineering in Hindi मरीन इंजीनियरिंग or समुद्रीय अभियांत्रिकी or सामुद्रिक अभिय‌ंत्रण? Not sure here i am giving you an explanation fro the same.

Marine means समुद्री  and Engineering means अभियांत्रिकी so if we combine both it will be समुद्रीय अभियांत्रिकी which meaning something related to marine. So where we applies engineering in marine is called Marine Engineering. जहाज़ी अभियांत्रिकी, We applied engineering for Ship operation s called जहाज़ी अभियांत्रिकी.

मरीन इंजीनियरिंग के क्षेत्र में करियर के अनेक विकल्प मौजूद हैं। आप इंडियन मर्चेंट नेवी, नौसेना, जहाज निर्माण कंपनियों तथा जहाजों का निरीक्षण करने वाली सोसाइटियों में नौकरियातलाश सकते हैं। इसके अलावा शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया जैसी कई लीडिंग शिपिंग कंपनियाभी मरीन इंजीनियरों की सेवाएँ लेती हैं। अगर आप विदेशों में भविष्य तलाशने वाले छात्र इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन द अमेरिकन ब्यूरो ऑफ शिपिंग में भी काम कर सकते हैं। वह फ्रेशर व ट्रेनिंग लेने वाले छात्रों को नौकरी देते हैं। इसके अलावा फ्रांस और यूके में भी नौजवान मरीइंजीनियरों की माँग बनी रहती है।मरीन इंजीनियरिंग बहुत ही चुनौती भरा करियर है। मरीन इंजीनियरिंग का काम सिर्फ जहाजों के निर्माण से ही नहीं बल्कि लोगों की जान से भी जुड़ा होता है। मरीन इंजीनियर को अपने काम में कोताही बरतने की छूट नहीं होती है।

प्रमुख संस्थान:
  1. ट्रेनिंग शिप चाणक्य कार्वे, नवी मुंबई
  2. मरीन इंजीनियरिंग एंड रिसर्च इंस्टिट्यूट, कोलकाता और मुंबई 
  3. इंटरनेशनल मरीनटाइम इंस्टिट्यूट, नई दिल्ली
  4. इंदिरा गाँधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मद्रास।


Marine engineering often refers to the engineering of boats, ships, oil rigs and any other marine vessel or structure, but also encompasses oceanographic engineering. Specifically, marine engineering is the discipline of applying engineering sciences, and can include mechanical engineering, electrical engineering, electronic engineering, and computer science, to the development, design, operation and maintenance of watercraft propulsion and also on-board systems and oceanographic technology, not limited to just power and propulsion plants, machinery, piping, automation and control systems etc. for marine vehicles of any kind like surface ships, submarines etc..
The purely mechanical ship operation aspect of marine engineering has some relationship with naval architects. However, whereas naval architects are concerned with the overall design of the ship and its propulsion through the water, marine engineers are focused towards the main propulsion plant, the powering and mechanization aspects of the ship functions such as steering, anchoring, cargo handling, heating, ventilation, air conditioning, electrical power generation and electrical power distribution, interior and exterior communication, and other related requirements. In some cases, the responsibilities of each industry collide and is not specific to either field. Propellers are examples of one of these types of responsibilities. For naval architects a propeller is a hydrodynamic device


1 comment:

  1. Dairy Equipment Anand, Cleaning Anand, Cleaning Equipments Anand. Serious Electrical Solutions

    ReplyDelete